Uncategorized

स्मार्ट मीटर की खासियतें जानने दिल्ली से आया 12 सदस्यी दल

स्मार्ट मीटर की खासियतें जानने दिल्ली से आया 12 सदस्यी दल

एमडी, सीई ने दी जानकारी, राजस्व बढ़ा- आपूर्ति की भी सघन मानिटरिंग

इंदौर। केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय की संस्था पावर फायनेंस कार्पोरेशन (पीएफसी) का 12 सदस्यी उच्च स्तरीय दल स्मार्ट मीटर स्थापना के बाद एक साल में इंदौर में बिजली मामलों में आए बदलाव को जानने के लिए सोमवार को इंदौर आया। दल ने स्मार्ट मीटर कंट्रोल रूम, संचार प्रणाली, राउटर के माध्यम से रेडियो तरंगों से मिल रही रीडिंग, अत्याधुनिक मीटर लेबोरेटरी, एमडी आफिस जाकर जानकारी ली। दल में पीएफसी के जनरल मैनेजर श्री विजय अग्रवाल, एजीएम श्री संजय राय, श्री एके पवनेजा, श्री सुधीर कुमार श्रीवास्तव, श्री पंकज शर्मा प्रमुख रूप से मौजूद थे। दिल्ली के दल को मप्रपक्षेविविकं के एमडी श्री विकास नरवाल ने स्मार्ट मीटर स्थापना के बाद से आपूर्ति में सुधार, राजस्व बढ़ने, फीडरों का लास कम होने, बिलिंग एफिशिएंसी में बढोत्तरी, रीडिंग के साथ ही पावर फैक्टर सामने आने आदि जानकारी दी। श्री नरवाल ने बताया कि दो चरणों में स्मार्ट सिटी इंदौर में कुल 1.20 लाख मीटर लगाए जाना हैं, इसमें से करीब 87 हजार मीटर लगाए जा चुके हैं। इस दौरान दिल्ली के दल ने एमडी श्री नरवाल, डाय़रेक्टर श्री मनोज झंवर, एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर श्री गजरा मेहता, चीफ इंजीनियर श्री एसएल करवड़िया, एसई श्री डीएस चौहान, एसई आईटी श्री सुनील पाटौदी, नोडल अधिकारी श्री नवीन गुप्ता, सहायक नोडल अधिकारी श्री अंकुर गुप्ता आदि से कई प्रश्नों के उत्तर जानकर जिज्ञासा का समाधान भी किया। एसई श्री डीएस चौहान ने बताया कि अब तक ग्यारह राज्य एवं बिजली कंपनी के दल स्मार्ट मीटर का अध्ययन करने आ चुके हैं।

17 Views