Uncategorized

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पश्चिम बंगाल के जाधवपुर में रैली करने की इजाजत नहीं मिली है।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पश्चिम बंगाल के जाधवपुर में रैली करने की इजाजत नहीं मिली है। साथ ही यहां उनके हेलीकॉप्‍टर को भी लैंड करने की अनुमति नहीं मिली है। लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें चरण के लिए 19 मई को मतदान होना है। ये मतदान का आखिरी चरण है, इसलिए सभी पार्टियों ने अपनी पूरी ताकत झौंकने की तैयारी कर ली है। हालांकि, इस बीच ममता बनर्जी का भाजपा की राह में बांधाएं उत्‍पन्‍न करना जारी है। ममता बनर्जी इससे पहले भी भाजपा नेताओं को सुरक्षा का हवाला देते हुए पश्चिम बंगाल में रैली करने और हेलीकॉप्‍टर की लैंडिंग की इजाजत देने से इन्‍कार कर चुकी हैं। आज 12.30 बजे शाह यहां रैली करने वाले थे।

इससे पहले 22 फरवरी को भी ममता बनर्जी ने अमित शाह की मालदा रैली के दौरान उनके हेलीकॉप्टर लैंडिंग पर रोक लगा दी थी। जिसके बाद बीजेपी ने ममता सरकार पर प्रशासनिक शक्तियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था। भाजपा की तरफ से कहा गया था कि जब हर हफ्ते सीएम का चॉपर वहां उतरता है, तब फिर शाह के हेलीकॉप्टर को इजाजत देने में क्या दिक्कत है? हालांकि बाद में दीदी ने इसके लिए उन्हें इजाजत दे दी थी। वहीं ममता सरकार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर लैंडिंग पर भी रोक लगा चुकी है। इसके बाद योगी ने बालुरघाट और रायगंज में रैलियों को संबोधित करने के लिए सड़के के माध्यम से बंगाल जाने का निर्णय लिया था।

भारतीय जनता पार्टी की रथयात्रा को भी राज्य में अनुमति नहीं मिली थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शाह की रथयात्रा पर रोक लगा दी थी। उन्हें यहां सिर्फ रैलियां और जनसभाएं करने की इजाजत मिली थी, लेकिन दीदी कई बार सुरक्षा का हवाला देकर इनमें भी रोडे अटका चुकी हैं। सर्वोच्च न्यायालय ने शाह की रथयात्रा को लेकर कहा था कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता की इससे सौहार्द बिगड़ सकता है।

बता दें कि अमित शाह आज पश्चिम बंगाल में तीन जगह जनसभा को संबोधित करने वाले थे। उनकी पहली रैली सुबह जयनगर में होनी थी, इसके बाद वह जाधवपुर और बरासत लोकसभा सीटों पर जनसभाओं को संबोधित करने वाले थे।