Uncategorized

मप्र के ऊर्जामंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ली इंदौर में समीक्षा बैठक

  • मप्र के ऊर्जामंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ली इंदौर में समीक्षा बैठक

इंदौर। प्रदेश सरकार गरीबों, आम लोगों, किसानों व जन जन के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। ऊर्जा विभाग की पहली प्राथमिकता क्वालिटी पावर सप्लाय है, इस पर लाइनमैन से लेकर ऊर्जामंत्री तक को ध्यान देना होगा। स्थिति में सतत सुधार करना होगा। गांवों में मीटरीकरण पर ज्यादा ध्यान देना होगा, जहां से भी शिकायतें मिलती है, वहां समय पर कार्रवाई करना होगी। इसी से उपभोक्ता व आमजन संतुष्ट रहेगा, विभाग की छवि में उत्तरोत्तर निखार आएगा।

प्रदेश के ऊर्जामंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने गुरूवार को ये बातें कहीं। वे पोलोग्राउंड इंदौर स्थित मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के सभागार में समीक्षा बैठक में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ट्रिपिंग में कमी लाई जाए, ट्रांसफार्मरों का फेल रेट घटाया जाए, क्वालिटी सप्लाय हो, ताकि शिकायतों की संख्या और घटे, इंदौर और उज्जैन का प्रतियूनिट नकद राजस्व संग्रहण (सीआरपीयू) और बढ़ाया जाए। ऊर्जामंत्री ने कहा कि देपालपुर के अलवासा, खेड़ी खंडवा, टकरावदा उज्जैन, जसंदी बुरहानपुर आदि में कृषि फीडरों में सुधार की तुरंत जरूरत है। ऊर्जामंत्री श्री तोमर ने कहा कि जहां भी ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने की स्थिति मिलती है, वहां तुरंत परीक्षण कर क्षमता बढ़ाना चाहिए, नहीं तो ट्रिपिंग, यूनिट लास एवं उपभोक्ता शिकायतें बढ़ेगी, नुकसान बिजली कंपनी का ही होगा। उन्होंने कहा कि शीतकाल एवं कोराना नियंत्रण के बाद वे जन चौपाल लगाकर उपभोक्ताओं, आमजनों की समस्याएं सुनेंगे, समय पर निराकरण कराएंगे। ऊर्जामंत्री ने इंदौर के बाहर के सभी अधीक्षण यंत्रियों से वीडियो कान्फ्रेंस से बात की व आउट सोर्स कर्मचारियों को समय पर वेतन दिलाने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जो आउट सोर्स कंपनी समय पर वेतन नहीं दे रही है, उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाए। जिन गांवों में पहले मीटरीकरण हुआ है, वहां मीटर रीडिंग के ही बिल जारी हो, यदि नहीं तो मामले की जांच कराए।

हेल्प डेस्क की मामले जल्द सुलझाएं

ऊर्जामंत्री ने निर्देश दिए कि भोपाल में ऊर्जामंत्री हेल्प डेस्क पर जो भी शिकायतें आती है। उनका जल्दी निराकरण कराया जाए, ताकि आमजन को राह मिल सके। इस डेस्क पर पश्चिम क्षेत्र की नौ माह में 9 सौ शिकायतें पहुंची थी, जिनका समाधान हुआ है। जारी माह जनवरी में दर्ज शिकायतों के तेजी से समाधान के निर्देश दिए गए।

पश्चिम क्षेत्र की स्थिति बेहतर

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने इस मौके पर कहा कि एक वर्ष में ट्रांसफार्मरों का फेल रेट तुलनात्मक दस फीसदी घटा है। यह पहले 4.62 फीसदा था, अब 4.10 फीसदी ही है। उन्होंने लाइन लास घटाने, राजस्व बढ़ाने, शिकायतों के तेजी से समाधान और अन्य विभागीय लक्ष्यों में मिली सफलता की जानकारी दी। ऊर्जामंत्री ने कहा कि पश्चिम क्षेत्र की स्थिति अन्य से बेहतर है। इस अवसर पर मुख्य महाप्रबंधक श्री रिंकेश कुमार वैश्य, वरिष्ठ अधिकारीगण सर्वश्री मनोज झंवर, संजय मोहासे, गजरा मेहता, एसएल करवाड़िया, कैलाश शिवा, पुनीत दुबे, शहर अधीक्षण यंत्री श्री मनोज शर्मा, ग्रामीण अधीक्षण यंत्री श्री डीएन शर्मा आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।


ऊर्जामंत्री ने जोन पहुंचकर बिल फाइल जांची, उपभोक्ता से की चर्चा

इंदौर। ऊर्जामंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर गुरुवार की शाम इंदौर शहर वृत्त के सिरपुर जोन पहुंचे। वहां उन्होंने बिल फाइल चेक की। उन्होंने जोन प्रभारी श्री तरूण चावला से रेंडम आधार पर बिल निकलवाए और रीडिंग के अंक और उसके फोटो(पीएमआर) का मिलान किया, जो सही पाया गया। उन्होंने सिरपुर एवं गुमाश्तानगर क्षेत्र की बिजली वितरण व्यवस्था की जानकारी मुख्य अभियंता श्री पुनीत दुबे, अधीक्षण अभियंता श्री मनोज शर्मा, कार्यपालन यंत्री श्री मनेंद्र कुमार गर्ग से प्राप्त की। जोन स्थित ग्रिड परिसर का निरीक्षण किया। ऊर्जामंत्री श्री तोमर बाद में धार रोड स्थित सिरपुर जोन क्षेत्र की कालोनी ग्रीन पार्क भी गए। वहां उन्होंने उपभोक्ताओं से चर्चा की, ऊर्जामंत्री ने पूछा बिल ज्यादा तो नहीं आता है। उपभोक्ताओ की ओर से ऊर्जामंत्री को संतुष्टिपूर्ण जवाब मिला। ऊर्जामंत्री ने पूछा बिजली कार्यों के लिए बार-बार जोन तो नहीं जाना पड़ता है, उपभोक्ताओं ने कहा कि वर्ष में दो तीन बार जाना पड़ता है।

8 Views