Uncategorized

जनसंख्या अनुपात में इन्दौर 177, देश 80, दुनिया 16 (प्रति दस लाख के बिच ) कल संक्रामित हुऐ ।

जनसंख्या अनुपात में इन्दौर 177, देश 80, दुनिया 16
(प्रति दस लाख के बिच ) कल संक्रामित हुऐ ।
5000 हजार करोड़ रुपए का दिवाली तक कोराना चिकित्सा भार ।
70 हजार रुपए प्रति परिवार आर्थिक भार आयेगा ।

       इन्दौर मै दैनिक बडते कोराना प्रभावित कि संख्या इसी दर से बढती रहीं और सब कुछ निराकुश चलता गया तो दिवाली तक संंक्रामित संख्या 50 हजार पार हो जायेगी । इनके इलाज पर 5,000 करोड रूपए चिकित्सा व्यय होगा । यह राशी प्रति परिवार 70 हजार रुपए सिघे अस्पतालों को या कर के रूप मै चुकानी होगी ।
       8 सितंबर कि 187 संक्रामित संख्या 14 सितंबर तक  बढ़ते बढ़ते 386 हो गयी है । यह संख्या दस लाख के बिच 56 कि जगह 117 प्रतिदिन संक्रामित पार हो गयी है । देश 80, दुनिया 16 पार है ।

यह रफतार दिवाली तक इन्दौर मरघट मै बदल जायेगा ।
शासन-प्रशासन, राजनैतिक दलों, निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को आगे आकर ठोस निर्णय व व्यवस्था बनानी होगी । इन्हीं प्रशनों को लेकर विकास मित्र दृष्टि 2050 के किशोर कोडवानी दो दिनों से अनिश्चितकालीन घरने पर कलेक्टर कार्यालय परिसर पर साथियों सहित बैठे हैं। कोडवानी ने कुछ सुझाव निर्णय के लिये रखें है । बिना लाक डाउन कोराना संक्रामक प्रबघंन हो सके ।
1.स्कुली शिक्षा सत्र शुन्य,

  1. 21 अस्थाई हाट बाजार में सड़क फैरी वालों को व्यवस्थित करना,
  2. शंटर के बहार डिस्प्ले जप्ति
    4 .निजी चार पहिया वाहन आड़ इवन
  3. शासकिय अनुबंधित दर पर निजी करोना चिकित्सा
  4. सभी सार्वजनिक आयोजन प्रतिबंधित, समान कार्यवाही कि जाते । इन मागों को लेकर सामाजिक कार्यकर्ता किशोर कोडवानी 14 सितंबर सुबह 12 बजे से अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गये । कलेक्टर कार्यालय, पंजीयन विभाग प्रागण शिव मंदिर वृक्ष कि चौपाल पर बैठ है । धरना निर्णय होने तक 24 घंटे अविरल जारी रहेगा ।
4 Views