Uncategorized

भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र अब केवल 1 दिन का होगा और इसमें प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं होंगे।

भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र अब केवल 1 दिन का होगा और इसमें प्रश्नकाल और शून्यकाल नहीं होंगे।
यह निर्णय आज यहां प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। इस बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा सहित कांग्रेस और भाजपा के वरिष्ठ विधायक शामिल थे। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि अध्यक्ष और विधानसभा उपाध्यक्ष का चुनाव भी बाद में करवाया जाएगा। इस प्रकार  अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव भी फिलहाल टल गए है।

3 Views