Uncategorized

निगम के 21 वकीलों का सेवाकाल समाप्त-अब काम की समीक्षा के बाद ही होगी नियुक्ति*

*निगम के 21 वकीलों का सेवाकाल समाप्त-अब काम की समीक्षा के बाद ही होगी नियुक्ति*

इंदौर।नगर निगम में वर्तमान में लगभग 40 वकीलों की लंबी फौज हाई कोर्ट और जिला कोर्ट में काम कर रही थी। इनमें से ज्यादातर वकीलों को अब तक निगम द्वारा कोई केस पैरवी करने के लिए नहीं दिया गया। फिर भी फिक्स वेतन के तहत नगर निगम द्वारा इन्हें 15 हजार से लेकर डेढ़ लाख तक प्रतिमाह वेतन दिया जा रहा था। निगमायुक्त श्रीमती प्रतिभा पाल के पास शिकायत पहुंचने के बाद अब निगम में अनावश्यक वकीलों की नियुक्ति पर अंकुश लग गया है। 40 में से 6 वकील जिला कोर्ट के और 15 वकील हाईकोर्ट के जिनका 1 वर्ष का सेवाकाल समाप्त हो चुका है। निगम द्वारा इन्हें अभी पुर्ननियुक्ति नहीं दी गई है। निगम सूत्रों के अनुसार निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने तय किया है कि अब वकीलों के कार्य की समीक्षा के आधार पर ही उन्हें पुनः नियुक्ति दी जाएगी। सूत्र बताते हैं कि अब 20 – 22 से ज्यादा वकीलों को निगम में नियुक्ति नहीं दी जाएगी। कांग्रेस शासनकाल में कई ऐसे वकीलों को भी निगम में नियुक्ति दे दी गई थी जो कोर्ट में रेगुलर प्रैक्टिस ही नहीं करते हैं न ही कभी निगम की ओर से पैरवी की। लेकिन प्रतिमाह वेतन प्राप्त कर रहे थे।

4 Views