Uncategorized

नर्मदा सिर्फ एक नदी नही, बल्कि माँ है जो हमारे प्राणों में प्रवाहित है।–दिग्विजय सिंह*

*नर्मदा सिर्फ एक नदी नही, बल्कि माँ है जो हमारे प्राणों में प्रवाहित है।–दिग्विजय सिंह*

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने नर्मदा जयंती के अवसर पर सभी नागरिकों को बधाई दी है। श्री सिंह ने कहा कि नर्मदा सिर्फ एक नदी नही, बल्कि माँ है जो हमारे प्राणों में प्रवाहित है। नर्मदा एक जीवित इकाई है जिसकी सुरक्षा/संरक्षण से हमे किसी भी कीमत पर समझौता नही करना चाहिए।

श्री सिंह ने अपनी नर्मदा परिक्रमा के अनुभवों की याद करते हुए कहा कि उन्होंने गत वर्ष नर्मदा जयंती का पर्व माँ नर्मदा के तट पर ही रायसेन जिले के बिसेर में मनाया था। उन्होंने कहा कि माँ नर्मदा साक्षात है और करोड़ों नागरिकों की शारीरिक और आध्यात्मिक प्यास बुझा रही है। वह जहां अपने भौतिक स्वरूप से लोगों के जीवन को समृद्ध कर रही है वहीं सूक्ष्म शरीर से करोड़ों लोगों के आत्मकल्याण का मार्ग भी प्रशस्त कर रही है।

श्री सिंह ने मध्यप्रदेश सरकार से आग्रह किया है कि वह नर्मदा के समग्र संरक्षण के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार करे ताकि अवैध उत्खनन की कोई गुंजाइश न हो।

उन्होंने नागरिको से भी अनुरोध किया कि नर्मदा जी को किसी भी रूप में प्रदूषित न होने दें एवं मां नर्मदा की सेवा और संरक्षण के लिए अपना योगदान दें ताकि वह सदैव मानव जाति के कल्याण के लिए सतत प्रवाहित होती रहे।

0 View