Loading...
National

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण आधार कार्ड धारकों के लिए अच्‍छी खबर लेकर आया है.

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण आधार कार्ड धारकों के लिए अच्‍छी खबर लेकर आया है.

नई दिल्ली : भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) आधार कार्ड धारकों के लिए अच्‍छी खबर लेकर आया है. वह 2019 से नई सेवा शुरू करेगा. इससे आधार कार्ड धारक आसानी से अपने पते में बदलाव कराने में सक्षम होंगे. इससे उन लोगों को मदद मिलेगी जिनके पास स्थानीय निवासी का प्रमाण नहीं होता है. धारक को सिर्फ एक पत्र और पिन संख्या के माध्यम से अपना पता बदलने की सुविधा मिलेगी.

अप्रैल 2019 से शुरू होगी सुविधा
यूआईडीएआई ने एक अधिसूचना में जानकारी दी कि इस नई सेवा को एक अप्रैल से शुरू करने का प्रस्ताव है. यूआईडीएआई ने कहा कि जिन रहवासियों के पास उनकी मौजूदा निवास स्थान का कोई मान्य प्रमाण नहीं है. वह पते के सत्यापन के लिए पिन कोड वाले आधार पत्र के माध्यम से अनुरोध कर सकते हैं. एक बार व्यक्ति को यह पत्र प्राप्त हो जाएगा तो वह इस कूट पिन के माध्यम से एसएसयूपी ऑनलाइन पोर्टल पर अपने आधार में पते का बदलाव कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : आधार कार्ड के नाम पर कहीं आप भी तो नहीं बन गए हैं ठगी का शिकार!

जनवरी 2019 से होगा सेवा का परीक्षण
इससे उन लोगों को लाभ होगा जो किराये के घर में रहते हैं या अपना शहर छोड़कर दूसरे शहरों या स्थानों पर श्रमिक के तौर पर काम करते हैं. यूआईडीएआई ने कहा कि इस नई सेवा का प्रायोगिक परीक्षण एक जनवरी 2019 से शुरू होगा और एक अप्रैल 2019 से इसका परिचालन शुरू करने का प्रस्ताव है.

क्‍या है मामला
माइग्रेंट लेबर या किराए पर रहने वाले लोगों को अपना एड्रेस अपडेट कराने में समस्‍या होती थी. उन्‍हें आधार की सुविधा नहीं मिल पाती थी. नई प्रणाली के तहत, जोकि 1 अप्रैल 2019 से प्रस्‍तावित है, आधार कार्ड धारक यूआईडीएआई की साइट से सिक्रेट पिन वाला आधार लेटर का विकल्‍प चुन सकते हैं.

आधार में पैन अपडेट कराने की समय सीमा अब 31 मार्च 2019
केंद्�